Choti Diwali naraka chaturdashi poja vidhi shubha time यम दीवाली

दिवाली की इस पर्व का बहुत महत्व हैं तीन तक चलता हैं ये त्यौहार सबसे पहले धनतेरस दुसरे दिन छोटी दिवाली/रूप चोदस/नरक चतुर्दशी और तीसरे दिन अमावश्य के दिन पूर्ण दिवाली मनाई जाती हैं हिन्दू धर्म में इन तीन दिनों का बहुत महत्व रहता हैं | छोटी दिवाली क्यों मनाई जाती हैं इस के पीछे की कहानी बताते हैं कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को नरक चतुर्दशी, यम चतुर्दशी या फिर रूप चतुर्दशी कहते हैं.  एक कथा के अनुसार आज के दिन ही भगवान श्री कृष्ण ने अत्याचारी और दुराचारी नरकासुर का वध किया था और सोलह हजार एक सौ कन्याओं को नरकासुर के बंदी गृह से मुक्त कर उन्हें सम्मान प्रदान किया था। इस उपलक्ष में दीयों की बारत सजायी जाती है।

नरक चौदस की कथा

श्री कृष्ण भगवान ने कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी तिथि को नरकासुर नाम के एक असुर का वध किया। नरकासुर ने सोलह हजार कन्याओं को बंदी बना रखा था। नरकासुर का वध करके श्री कृष्ण ने कन्याओं को नरकासुर से मुक्त करवाया। इन कन्याओं ने श्री कृष्ण से कहा कि समाज उन्हें स्वीकार नहीं करेगा अतः आप ही कोई उपाय करें। समाज में इन कन्याओं को सम्मान दिलाने के लिए सत्यभामा के सहयोग से श्री कृष्ण ने इन सभी कन्याओं से विवाह कर लिया। नरकासुर का वध और 16 हजार कन्याओं के बंधन मुक्त होने के उपलक्ष्य में नरक चतुर्दशी के दिन दीपदान की परंपरा शुरू हुई। और कहा जाता हैं की इस दिन भगवान हनुमान का जन्म हुआ था इस दिन तिल के तेल से शरीर पर मालिस करने और हनुमान जी पूजा करने से घर में मंगल ही मंगल होता हैं

छोटी दिवाली व्रत विधि पूजा विधि

छोटी दिवाली के दिन सूर्य उदय होने से पहले तिल के तेल शरीर पर मालिश कर के स्नान करे और मन्त्र का जाप करे ऊं यमाय नम:, ऊं धर्मराजाय नम:, ऊं मृत्यवे नम:, ऊं अन्तकाय नम:, ऊं वैवस्वताय नम:, ऊं कालाय नम:, ऊं सर्वभूतक्षयाय नम:, ऊं औदुम्बराय नम:, ऊं दध्राय नम:, ऊं नीलाय नम:, ऊं परमेष्ठिने नम:, ऊं वृकोदराय नम:, ऊं चित्राय नम:, ऊं चित्रगुप्ताय नम:। तिलक लगाकर दक्षिण दिशा की ओर मुख करके बैठ जाए.निम्न मंत्रों से प्रत्येक नाम से तिलयुक्त तीन-तीन जलांजलि देनी चाहिए इस के बाद रूप चोदस का उपवास करे

अभ्यंग स्नान शुभ मुहूर्त – प्रात: 04:47 से प्रात: 06:27 तक रहेगा।

छोटी दिवाली के दिन हुआ था हनुमानजी का जन्म जाने इस के बारे

छोटी दिवाली यानि रूप चोदस के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था इस प्रकार के तथ्य हैं और इस दिन विधि विधान से वीर हनुमान जी पूजा पाठ करे तो भगवान की कर्पा बनी रहती हैं कहा जाता हैं की इस दिन मंत्रो के साथ अगर हनुमान जी की आराधना करे तो सारे कष्ट कट जाते हैं

Recent Release Board Exam Result 2017

Choti Diwali wallpaper puja image shayari wishes P... हेल्लो दोस्तों हम लाये हैं आप के लिये छोटी दिवाली पर लेटेस्ट शायरी फोटो wallpapers,Diwali wishes, quotes, sms मस्ती भरे जोक्स जो आप अपने दोस्त  और रिश...
Best Lakshmi poja muhurat time Choghadiya Puja Muh... दिवाली के इस पर्व पर माँ लक्ष्मी की पूजा हमेशा विधि विधान से करनी चाहियें जिस से माँ लक्ष्मी की कर्पा बनी रहे | हम आप बतायेंगे की 19th नवम्बर 2017 यान...
Dipawali latest 10 Shayari 2017 Girlfriend Boyfrie... This is the festival of Deepawali which is a loving couple and to add to all the lovers who have just engaged Latest Shayari Jokes SMS & New Gift ...
dhanteras wallpaper kuber puja image shayari wishe... कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी पर जब ग्रहों और नक्षत्रों का अद्धुत संयोग बनता है, तब होती है धनतेरस की पूजा इस दिन लोगो पर धन के देवता कुबेर भगवान और माँ लक्ष...
Diwali special 25 Wallpapers 2017 Latest HD photos... Dipawali Special and latest HD wallpaper 2017 दिवाली के पर्व पर माँ लक्ष्मी की सबसे अच्छी फोटो हैं इस फोटो से आप माँ की आराधना कर सकते हैं Downl...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *